विश्व स्कॉउट दिवस कब मनाया जाता हैं ?

Follow us on Twitter to get more stuff there

World scout day in hindi नमस्कार दोस्तों, स्काउट्स डे या गाइड्स डे विशेष दिनों के लिए एक सामान्य शब्द है जिसे स्काउटिंग आंदोलन के सदस्यों द्वारा पूरे वर्ष मनाया जाता है। इनमें से कुछ दिनों का धार्मिक महत्व है. 

जबकि अन्य स्काउटिंग का एक साधारण उत्सव हो सकता है।  आमतौर पर यह एक ऐसा दिन होता है जब स्काउटिंग के सभी सदस्य स्काउट के वादे की फिर से पुष्टि करतें है।

विश्व स्कॉउट दिवस कब मनाया जाता हैं ?

पुरे विश्व में हर साल विश्व स्कॉउट दिवस 22 फ़रवरी को मनाया जाता हैं. विश्व स्काउट दिवस हर साल 22 फरवरी को स्काउटिंग संस्थापक रॉबर्ट बैडेन-पॉवेल (Robert Baden Powell), प्रथम बैरन बैडेन-पॉवेल (1857 में जन्में) और उनकी पत्नी ओलेव बैडेन-पॉवेल (Olave Baden Powell) की जयंती पर दुनिया भर के सभी स्काउटिंग यूनियंस द्वारा मनाया जाता है। इस दिन स्काउटिंग के सभी सदस्य स्काउट के वादे की फिर से पुष्टि करते हैं। 

विश्व स्कॉउट दिवस

भारत भी देश में स्काउटिंग की भावना को मनाने के लिए जोश और उत्साह के साथ इस दिवस को मनाता है और युवाओं के शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक विकास का लक्ष्य रखता है।  

स्काउट्स को सैनिकों की तरह प्रशिक्षित किया जाता है ताकि वे बाहरी और सर्वाइवल स्किल पर एक मजबूत फोकस के साथ समाज में रचनात्मक भूमिका निभा सकें। इस दिन स्काउटिंग के सभी सदस्य स्काउट के वादे को दोहराते और याद करते हैं। 

स्काउट डे को एक थिंकिंग डे भी कहा जाता है और विश्व स्कॉउट दिवस को फाउंडर डे भी कहते है

 स्काउटिंग का मतलब क्या होता है?

स्काउटिंग व्यक्तियों के सर्वांगीण विकास को सक्षम बनाता है और उन्हें सभी परिस्थितियों के लिए तैयार रहने के लिए प्रशिक्षित करता है। स्काउटिंग सेल्फकॉन्फिडेंस और सेल्फ रिस्पेक्ट के निर्माण, महत्वपूर्ण लाइफ स्किल और लीडरशिप स्किल सीखने, टीम निर्माण, बाहरी साहसिक कार्य, शिक्षा और मस्ती के बारे में है। 

स्काउट अच्छे चुनाव करना और अपने कार्यों की जिम्मेदारी लेना सीखाते हैं ताकि वे स्वतंत्र व्यक्तियों के रूप में अपने व्यस्त जीवन के लिए तैयार हो सकें।

Also read : विश्व हिंदी दिवस

रॉबर्ट बैडेन-पॉवेल कौन थे?

रॉबर्ट बैडेन-पॉवेल एक ब्रिटिश सेना अधिकारी थे जो सन 1899 से सन 1902 तक दक्षिण अफ्रीका में 217-दिवसीय माफ़ेकिंग की रक्षा के लिए एक राष्ट्रीय नायक बने। 

बाद में वे सन 1908 में बॉय स्काउट्स के संस्थापक और सह-संस्थापक के रूप में प्रसिद्ध हुए। सन 1910 लड़कियों के लिए एक समानांतर संगठन (गर्ल्स गाइड) की भी नींव डाली। इस दिन की Occasionality के बारे में भारत का प्रमुख स्काउटिंग संगठन क्या कहता है?

यह आंदोलन हमारे स्वतंत्रता सेनानियों का सपना है जो राष्ट्र की भावना के साथ जुड़ता है और कल के लिए बेहतर नागरिक बनाने की दिशा में काम करता है। स्काउट लॉ के प्रति समर्पण और आंदोलन के आदर्शों पर खरा उतरने का स्काउट वादा पूरा स्काउट ग्रुप लेता है। 

बीसवीं शताब्दी के दौरान लड़कों के लिए स्काउट्स के तीन प्रमुख समूह थे: क्यूब स्काउट, बॉय स्काउट और रोवर स्काउट।  बाद में सन 1901 में लड़कियों के गाइड के साथ-साथ ब्राउनी गाइड, गर्ल गाइड और गर्ल स्काउट, रेंजर गाइड समूह भी सामिल हुए थे। 

स्काउट अच्छे काम कर रहे हैं, सर्वाइवल स्किल सीख रहे हैं और समाज के लिए नैतिक नींव विकसित कर रहे हैं। 

स्काउटिंग इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

लगभग 100 से अधिक वर्षों से स्काउटिंग कार्यक्रमों ने युवाओं में स्काउट शपथ और स्काउट कानून में पाए जाने वाले मूल्यों को स्थापित किया है। स्काउटिंग से युवाओं को अकादमिक स्किल, कॉन्फिडेंस, मॉरलिटी,और सिटिजनशिप स्किल डेवलप करने में मदद मिलती है जो उनके एडल्ट लाइफ को प्रभावित करते हैं।

स्काउट और गाइड का उद्देश्य क्या है?

स्काउटिंग और गाइडिंग का मिशन स्काउट वादे और कानून पर आधारित मूल्य प्रणाली के माध्यम से युवा लोगों की शिक्षा में योगदान करना है, ताकि एक बेहतर दुनिया बनाने में मदद मिल सके जहां लोग व्यक्तियों के रूप में आत्मनिर्भर हों और समाज में रचनात्मक भूमिका निभाएं।

विश्व स्काउट दिवस का मुख्य उद्देश्य क्या है?

स्काउटिंग कार्यक्रम के मुख्य उद्देश्य होते हैं जिन्हें आमतौर पर (स्काउटिंग के उद्देश्य) के रूप में जाना जाता है। वे चरित्र विकास, लीडरशिप डेवलपमेंट, नागरिकता प्रशिक्षण और व्यक्तिगत फिटनेस हैं। लीडरशिप डेवलपमेंट भी स्काउटिंग के आठ तरीकों में से एक है जो अच्छे चरित्र और अच्छी नागरिकता दोनों में योगदान देता है।

यह थी कुछ जानकारी World scout day in hindi के बारे में. 

Leave a Comment