विश्व हिंदी दिवस कब और क्यों मनाया जाता हैं ?

World Hindi Day in hindi नमस्कार दोस्तों, भारत और विश्व में हिंदी भाषा का अपना एक अलग महत्त्व हैं। हमारे देश में हिंदी भाषा को कई जगह राज कार्यों के लिए भी इस्तेमाल किया जाता हैं। क्या आप जानते हैं की देश के अलावा विश्व में भी विश्व हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता हैं।

हिंदी दिवस कब मनाया जाता हैं ?

विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी को मनाया जाता हैं। इन वर्ष 2022 में भी हिंदी दिवस को विश्व में हर वर्ष की भांति सोमवार 10 जनवरी 2022 को मनाया जाएगा।

हिंदी दिवस

भारत में सबसे ज्यादा बोलने और समझने वाली भाषा हिंदी है ।हमारे मन में अधिकतर कोई भी विचार आते हैं। तो वह हिंदी में ही आते हैं। इसलिए इसे मन की भाषा भी कहा जा सकता है। हिंदी भाषा बोलने वालों के लिए 14 सितंबर बेहद ही खास दिन है। क्योंकि इस दिन को वह हिंदी दिवस के रूप में मनाते हैं। हिंदी दिवस पर सभी स्कूल कॉलेज में तरह-तरह के प्रोग्राम आयोजित किए जाते हैं। वही जनवरी महीने में हर साल 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता हैं

Also read : विश्व कैंसर दिवस

अंग्रेजों के भारत छोड़ने के बाद देश में सबसे बड़ा प्रश्न उठा किस भाषा को देश की भाषा मानी जाए यानी कि किस भाषा को देश की भाषा की उपाधि दी जाए क्योंकि भारत ही ऐसा देश है। जहां पर कई रीजनल भाषा बोली जाती है। इस बात का विशेष ध्यान रखते हुए भारत में 14 सितंबर 1939 को हिंदी को राज्य भाषा के रूप में घोषणा कर दी गई।

इसी को हम हिंदी दिवस के रूप में मनाते हैं।इस खास दिन हम हिंदी भाषा के जन्म और इतिहास का गहन अध्ययन करते हैं। और इसके महत्व को समझते हैं कोई भी भाषा महज भाषा नहीं होती बल्कि वह देश की संस्कृति होती है।यही वजह है की हिंदी भाषी लोगो के लिए इस भाषा का बहुत महत्त्व है और वे हिंदी भाषा सम्मान देते हैं चलिए आज जानते हैं हिंदी भाषा के इतिहास के विषय में

हिन्दी दिवस मनाने की कब से हुई शुरुआत

भारत 1947 में आजाद हुआ स्वतंत्र होने के बाद देश में संविधान बनाने के लिए गठित की गई। संविधान सभा के सामने राष्ट्रभाषा को लेकर सवाल उठा। इसके बाद सभी क्षेत्रीय लोगों की भावना की कद्र करते हुए हिंदी के साथ इंग्लिश को भारत की अधिकारिक भाषा के रूप में चुना गया। 

इसके बाद 1949 के 14 सितंबर को इसे राज्य भाषा घोषित कर दिया गया। इसके बाद राष्ट्रभाषा प्रचार समिति की सिफारिश पर साल 1953 में इस दिन को हिंदी दिवस के रूप में अस्तित्व में आ गया। जानकारी के लिए बता दें कि पूरी दुनिया में 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस के रूप में सेलिब्रेट किया जाने लगा है।

हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है?

14 सितंबर को सभी स्कूल और कॉलेज में हिंदी दिवस को बड़े ही सम्मान और शानदार तरीके से मनाया जाता है।इस दिन सभी शैक्षणिक संस्थानों में साहित्यिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

इसी के साथ ही इस दिन का ऐतिहासिक महत्व भी लोगों को समझाया जाता है।बता दें कि इस विशेष दिन  हमारे देश के राष्ट्रपति उन लोगों को सम्मान देते हैं। जिन्होंने हिंदी भाषा को बढ़ावा देने में अच्छा काम किया है।

आपको बता दें कि हिंदी पूरी दुनिया की चौथी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा के रूप में उभर कर आई है।दुनिया में अंग्रेजी स्पेनिश और मंदारिन के बाद हिंदी भाषा को ही सबसे अधिक बोला जाता है। वहीं विश्व हिंदी दिवस को पूरी दुनिया में मनाया जाने लगा है।भारत की बात करें तो यहां इसे हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है

राष्ट्रीय हिंदी दिवस और विश्व हिंदी दिवस में भिन्नता

अंग्रेजी और मंदारिन के बाद हिंदी पूरी दुनिया में व्यापक रूप से बोली जाने वाली भाषाओं में से एक गिनी जाती है। भाषाई विविधता के रूप में अंग्रेजी मंदारिन और स्पेनिश के बाद, हिंदी बोली जाने वाली भाषा है। 

वही हिंदी वैदिक संस्कृत के प्रारंभिक रूप की प्रत्यक्ष वंशज भी मानी गई है। हिंदी दिवस 14 सितंबर को हर साल मनाया जाता है। जो कि हिंदी को आधिकारिक भाषा के के तौर पर घोषित करता है। इसी दौरान हिंदी साहित्य सम्मेलन या विश्व हिंदी सम्मेलन 10 जनवरी को मनाया जाता है, जो कि हिंदी भाषा पर आधारित शब्द सम्मेलन है।

यह थी कुछ सामान्य जानकारी World Hindi Day in hindi के बारे में। उम्मीद हैं आपको यह लेख पसंद आया होगा।

Leave a Comment