हम भारतीय

सब कुछ हिंदी में

Javelin Throw day का महत्त्व

Javelin Throw Day : नमस्कार दोस्तों, हमारे देश के लिए टोक्यो ओलिंपिक में भाला फेंक प्रतियोगिता में देश के नीरज चोपड़ा ने स्वर्ण पदक जीता हैं. इस जीत से देश का हर नागरिक खुश हैं. 

देश के लिए Tokyo olympic 2020 में एकमात्र गोल्ड मैडल जीतने वाले नीरज चोपड़ा के सम्मान में देश में हर वर्ष Jevelin throw day यानी भाला फेंक दिवस के रूप में मनाया जायेगा. 

International yuva diwas

इस बात की घोषणा हाल ही में की हैं. 

Javelin throw day 

नीरज चोपड़ा ने 7 अगस्त 2021 को देश का नाम रोशन करते हुए टोक्यो में आयोजित हुए ओलिंपिक खेल में स्वर्ण पदक जीता हैं. उन्ही के सम्मान में इस दिवस की घोषणा की गई हैं. 

हर साल Athletic federation of india ने इस बात की घोषणा की हैं की वो अब हर साल नीरज चोपड़ा ने सम्मान में एक प्रतियोगिता आयोजित करवाएंगे. 

Neeraj Chopra कौन हैं ?

नीरज चोपड़ा भारत के एक भाला फेंक के खिलाडी हैं. नीरज चोपड़ा ने हाल ही में टोक्यो में आयजित हुए ओलिंपिक भाला फेंक प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीता हैं. 7 अगस्त का वो दिन था जब देश के इतिहास में यह एक और सुनहरा पल शामिल हो गया. 

नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय

नीरज चोपड़ा हरियाणा के पानीपत के रहने वाले हैं. इनका जन्म 24 दिसम्बर 1997 को हुआ था. इनकी उम्र 23 साल हैं. इतनी छोटी उम्र में देश के लिए स्वर्ण पदक जीतना अपने आप में सम्मान की बात हैं. 

उनके पिताजी जो की पेशे से किसान हैं. वे पानीपत के खंडरा गाँव में रहते हैं और नीरज चोपड़ा भी उनके साथ ही रहते हैं. नीरज चोपड़ा ने अपनी प्रारंभिक परीक्षा हरियाणा से की हैं. वे स्नातक तक पढ़े हुए हैं और इन्होए बीबीए की पढाई की हैं. 

नीरज चोपड़ा के कोच उवे होन हैं जो खुद जर्मनी के एक जाने माने बड़े एथलीत रहे हैं. 

नीरज चोपड़ा के कुछ रिकॉर्ड

बात करे नीरज चोपड़ा के कुछ रिकॉर्ड की तो वह कुछ इस प्रकार हैं.

  • नीरज चोपड़ा ने हाल ही में टोक्यो ओलिंपिक 2020 में गोल्ड मैडल जीता हैं. 
  • नीरज चोपड़ा ने यह गोल्ड मैडल भाला फेंक प्रतियोगिता में जीता हैं. 

निष्कर्ष

इस लेख में  Javelin throw day के बारे में बताई गई जानकारी आपको पसंद आई होगी. उम्मीद करते हैं आप हमसे जुड़े रहेंगे.