हम भारतीय

सब कुछ हिंदी में

IAS की सैलरी कितनी होती हैं, पूरी जानकारी

IAS ki salary kitni hoti hai नमस्कार दोस्तों, हर कोई IAS के बारे में तो जानता ही हैं। देश की सबसे बड़ी सेवा और सबसे प्रतिष्ठित सेवाओं में से एक हैं। क्या आप जानते हैं की IAS Kya hota hai ? IAS kaise bante hai ? या IAS ki salary kitni hoti hai ?

अगर आप इन सब के बारे में नहीं जानते हैं तो आपको इस लेख के माध्यम से बताने जा रहे हैं। इस लेख में आपको आईएएस के बारे में पूरी जानकारी दी जायेगी और इसके साथ ही आपको इसके बारे मी बताया जाएगा की आप किस प्रकार से एक आईएएस ऑफिसर बन सकते हैं।

आईएएस का पूरा नाम भारतीय प्रशासनिक सेवा है। एक आईएएस अधिकारी की USPC की भर्ती परीक्षा के माध्यम से की जाती है जो कि भारत की सबसे कठिन परीक्षा होती है जिसमें अभ्यार्थियों को विभिन्न परीक्षा के चरणों से गुजरना होता है तब जाकर वह है। 

एक आईएएस अधिकारी के रूप में चयनित होता है यदि आपको आईएएस से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्राप्त करनी है तो आपका हमारे इस पेज पर स्वागत है आप लगातार हमारे साथ बनी रहिए।

IAS बनने के लिए पढने वाले विषय

IAS क्या होता हैं ? 

सामान्य भाषा में बात करे तो यह एक केन्द्रीय सेवा होती हैं। भारत की सबसे बड़ी सेवा होती हैं। भारत के लगभग हर ऑफिस और विभाग में हर सक्षम अधिकारी भी एक आईएएस ही होता हैं। देश में यह होने वाली परीक्षा संघ लोक सेवा आयोग दुवारा आयोजित करवाई जाती हैं। 

वही इस परीक्षा के 3 चरण होते हैं जिसमे प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू इतियादी। इन तीनो चरणों से गुजरने के लिए हर अभ्यर्थी को कड़ी मेहनत करने की जरूरत होती हैं।

आईएएस बनने के फायदे

आईएएस अधिकारियों को बहुत सारे लाभ केंद्र सरकार की तरफ से दिए जाते हैं और सभी युवा इस आईएएस की तैयारी में इसी कारण जानना चाहते हैं कि वहां पर एक इज्जतदार नौकरी मिलती है और वह 1 जिले का मालिक होता है एक आईएएस अधिकारी 1 जिले के लोगों की दशा और दिशा बदलने में सक्षम होता है और लोगों में भी आईएएस के प्रति एक इज्जत दार सोच है।

आवास की सुविधा

केंद्र सरकार द्वारा आईएएस अधिकारी को सरकारी विभाग से एक आवास दिया जाता है जो कि बहुत ही बड़ा घर होता है जिसमें उसको संपूर्ण सुविधाएं मिलती है एक आईएएस अधिकारी को नौकरों की सुविधा भी दी जाती है आईएएस अधिकारी को कोई भी काम नहीं करना होता है केवल उसके नौकर ही उसके संपूर्ण काम करते हैं।

फ्री में यात्रा की सुविधा

केंद्र सरकार द्वारा एक आईएएस अधिकारी को निशुल्क वाहन और एक ड्राइवर दिए जाते हैं कभी-कभी तो आईएएस अधिकारी को एक से ज्यादा गाड़ी भी दी जाती है आईएएस अधिकारी खुद गाड़ी का दरवाजा नहीं खोलता है उसके नौकर ही उसका दरवाजा खोलते हैं।

आईएएस अधिकारी को जेड प्लस सिक्योरिटी

आईएएस अधिकारियों को केंद्र सरकार की तरफ से जेड प्लस सिक्योरिटी दी जाती है क्योंकि वह जनता की सेवा करते हैं तो उस समय उनके बहुत सारे दुश्मन बन जाते हैं इसलिए उन्हें यह सुरक्षा दी जाती है इसके साथ साथ ही 1 आईएएस के संपूर्ण परिवार को सुरक्षा दी जाती है

आईएएस अधिकारी को केंद्र सरकार द्वारा बिल भी दिए जाते है 

यदि आईएएस अधिकारी फोन का यूज करता है तो उस में डाले जाने वाला बैलेंस भी केंद्र सरकार की तरफ से दिया जाता है इसके अलावा उसके घर में यदि बिजली आती है तो उसका बिल भी केंद्र सरकार द्वारा भरा जाता है और उसके घर में यदि जैसे खाना पकाया जाता है तो गैस कनेक्शन भी केंद्र सरकार द्वारा उपलब्ध करवाया जाता है जो कि निशुल्क होता है।

एक आईएएस अधिकारी को मिलने वाला परिवहन भत्ता

यदि हम मान ले कि कोई आईएएस अधिकारी कहीं पर जा रहा है तो उसको रहने के लिए जगह चाहिए तो केंद्र सरकार द्वारा उसे निशुल्क आवास उपलब्ध करवाया जाता है इस बात का कोई फर्क नहीं होता है।

कि वह भारत के किसी अन्य राज्य में जा रहा है तो भी उसको वह सरकारी सुविधा तो मिलेगी ही। एक आईएएस अधिकारी राजभवन में भी रह सकता है और बड़ी बड़ी होटलों में भी रह सकता है।

पढ़ाई करने के लिए मिलने वाली छुट्टियां

आईएएस अधिकारी नौकरी के उपरांत भी पढ़ाई कर सकता है और वह कहीं पर भी एडमिशन ले सकता है और उसे एडमिशन लेने में देने वाली फीस भी केंद्र सरकार द्वारा भरी जाती है और वह किसी भी विश्वविद्यालय से अपनी पढ़ाई कर सकता है। 

इसके लिए वह आवेदन भी कर सकता है लेकिन आईएएस अधिकारी यह केवल एक शर्त पर ही कर सकता है कि उसको वापस आईएएस ही ज्वाइन करना होगा इसके अलावा वह जितने साल तक सरकार चाहेगी इतने साल तक नौकरी करेगा।

वह बीच में अपनी नौकरी को नहीं छोड़ सकता यदि वह पढ़ाई करता है बीच में तो जिस प्रकार एक आईएएस अधिकारी को भी पढ़ाई के लिए सरकार की तरफ से पैसे दिए जाते हैं।

IAS ki salary kitni hoti hai ?

आईएएस अधिकारी केंद्र में अधिकारी होता है और अधिकारियों के वेतन का निर्धारण वेतन आयोग करता है साथ ही साथ भारत के राजकोष में स्थित खजाने के अनुसार आईएएस की सैलरी में परिवर्तन होता रहता है। 

सरकार की तरफ से लगातार एक आईएएस अधिकारी की सैलरी में बढ़ोतरी होती रहती है रहती है। आईएएस अधिकारी की सैलरी ₹217000 तक होती है।

एक आईएएस अधिकारी को सैलरी के अलावा विभिन्न प्रकार के भत्ते भी मिलते हैं जैसे की आवास भत्ता, परिवहन भत्ता, चिकित्सा भत्ता, ट्रैवल और परिवहन भत्ता।

ट्रेनिंग के समय आईएएस अधिकारी को कितना वेतन मिलता है

ट्रेनिंग के समय आईएएस अधिकारी को उन्हें सरकार की तरफ से सैलरी दी जाती है जो कि 1 महीने की सैलरी ₹45000 होती है।

लेकिन आपको यह जानना भी हो गए कि आईएएस अधिकारी की सैलरी से ज्यादा अहमियत उसके पद की होती है आप सोच भी नहीं सकते कि आई एस की परीक्षा करने के लिए  अभ्यर्थी को कितनी संघर्षशील राते बितानी होती है एक आईएएस अधिकारी 1 जिले का मालिक होता है आईएएस अधिकारी मुख्य सचिव पद तक भी पहुंचता है।

किसी भी देश के प्रधानमंत्री और किसी भी राज्य के मुख्यमंत्री एक आईएएस अधिकारी की सलाह के बिना कोई भी कार्य नहीं करते हैं।

एक आईएएस अधिकारी बनने के लिए अभ्यार्थी को सबसे पहले आईएएस प्रीलिम्स परीक्षा देनी होती है इसके पश्चात अभ्यर्थी को दूसरी परीक्षा मुख्य परीक्षा से गुजरना होता है जो कि सबसे महत्वपूर्ण परीक्षा होती है मुख्य परीक्षा के पश्चात अभ्यार्थी इंटरव्यू में जाता है।

वहां पर उसकी पर्सनैलिटी की परीक्षा होती है तथा इसके पश्चात एक कटऑफ जारी होती है जिसके माध्यम से अभ्यर्थियों का चयन होता है और वह ट्रेनिंग के लिए चुने जाते हैं जो अभ्यर्थी ट्रेनिंग के समय अपना संपूर्ण समय और बिना किसी रोक-टोक के ट्रेनिंग करते हैं तो 2 साल के अंदर ही उनका प्रोबेशन पीरियड पूरा हो जाता है तथा वह एक आईएएस अधिकारी बन जाते हैं।

निष्कर्ष

हमारे द्वारा दी गई है आईएएस के बारे में जानकारी IAS ki salary kitni hoti hai आपको कैसी लगी यदि अच्छी लगी हो तो कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बताइए यदि आपको आईएएस से संबंधित किसी भी प्रकार का क्वेश्चन करना है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में निसंकोच क्वेश्चन कर सकते हैं हम आपके सभी क्वेश्चन का उत्तर देने की पूर्ण कोशिश करेंगे यदि आप हमें इस आर्टिकल से संबंधित कोई सुझाव देना चाहे तो आपका स्वागत है।