हम भारतीय

सब कुछ हिंदी में

दुनिया का सबसे बड़ा बांध कौनसा हैं ?

Duniya ka sabse bada bandh नमस्कार दोस्तों, हम देश और दुनिया में कई सारे बांधों के बारे में सुनते हैं और पढ़ते हैं. ऐसे ही बांधों की सूची में से एक ऐसे बाँध के बारे में हम आपको इस लेख के बारे में बताने जा रहे हैं जो Duniya ka sabse bada bandh हैं. 

दुनिया का सबसे बड़ा बाँध जो की थ्री गोरजेस डैम (Three Gorges Dam) हैं जो की एक हाइड्रोइलेक्ट्रिक ग्रेविटी डैम (Hydroelectricity Gravity Dam) है और यह चीन की यांग्त्ज़ी (Yangtze River) नदी पर स्तिथ हैं. यह बाँध चीन के सैंडौपिंग शहर (Sandouping, in Yiling District) में स्तिथ हैं जो जो चीन के ​हुबेई प्रांत (Hubei) में आया हुआ हैं.

Duniya ka sabse bada bandh

दुनिया का यह सबसे बड़ा बाँध Three Gorges Dam, यह बांध थ्री गोरजेस के डाउनस्ट्रीम ( Down stream ) में फैला है। सन 2012 से स्थापित क्षमता(22,500 मेगावाट) के मामले में थ्री गोरजेस बांध अभी तक दुनिया का सबसे बड़ा बिजली स्टेशन या डैम रहा है। नदी बेसिन (river basin) में वर्षा की वार्षिक मात्रा के आधार पर यह बांध प्रति वर्ष औसतन 95 ± 20 TWh बिजली उत्पन्न करता है।

इस बाँध का निर्माण 2006 में पूरा हुआ था उसके बाद इस बांध परियोजना पर बिजली संयंत्र पूरा हो गया था और 4 जुलाई 2012 को पूरी तरह से यह निर्माण पूर्ण हो चुका था। प्रत्येक मुख्य जल टरबाइन (water turbines) की क्षमता 700 मेगावाट(MW) है। 

बांध के 32 मुख्य टर्बाइनों को दो छोटे जनरेटर(generator) (प्रत्येक में 50 मेगावाट) के साथ जोड़कर, बांध की कुल बिजली उत्पादन क्षमता 22,500 मेगावाट है। 

Three Gorges Dam का रचना और आयाम

इस डैम का निर्माण कंक्रीट (concrete) और स्टील (steal) से बना है, यह बांध 2,335 मीटर या 7,661 फीट लंबा है और बांध का टॉप sea level से लगभग 185 मीटर (607 फीट) ऊंचा है। इस निर्माण में लगभग 27.2 मिलियन घन मीटर कंक्रीट (मुख्य रूप से बांध की दीवार को तैयार करने के लिए) का उपयोग किया गया था. 

लगभग 463,000 टन से अधिक स्टील का मतलब 63 एफिल टावरों (Eiffel Towers) के निर्माण के लिए पर्याप्त होगा लगभग इतने स्टील का इस्तेमाल किया गया है और पृथ्वी के लगभग 102.6 मिलियन m3(cubic) (134.2 मिलियन घन yd) का उपयोग किया गया। 

जब जल स्तर(water level) समुद्र तल(sea level) से अधिकतम 175 मीटर (574 फीट) ऊपर और 110 मीटर (361 फीट) नीचे की ओर नदी के स्तर से अधिक होता है, तो बांध जलाशय औसतन 660 किमी (410 मील) लंबाई और 1.12 किमी लंबा होता है.

लगभग 3,675 फीट चौड़ाई में हो जाता है। इसमें 39.3 किमी 3 (31,900,000 एकड़ फीट) पानी है और इसका कुल सतह क्षेत्र(surface area) 1,045 किमी 2 (403 वर्ग मील) है।

भारत का सबसे ऊँचा बाँध

Three Gorges Dam का पावर जेनरेशन क्या है?

थ्री गोरजेस डैम 34 जेनरेटर(generator) के साथ दुनिया का सबसे बड़ा क्षमता वाला हाइड्रोइलेक्ट्रिक पावर स्टेशन(Hydroelectric Power Station) माना जाता है इसके 32 मुख्य जनरेटर प्रत्येक की क्षमता लगभग 700 मेगावाट और दो प्लांट पावर (Plant Power) जेनरेटर जिनकी प्रत्येक की क्षमता 50 मेगावाट है जिससे कुल क्षमता 22,500 मेगावाट है। 

उन 32 मुख्य जनरेटरों में 14 ऐसे generator है जो की बांध के उत्तर की ओर, 12 दक्षिण की ओर और बचे 6 बांध के दक्षिण में पहाड़ में भूमिगत बिजली संयंत्र(Underground Power Plant) में स्थापित हैं। सन 2018 में सालाना बिजली उत्पादन 101.6 टीएचएच(THH) से अधिक   था जो की हूवर(Huwer) बांध से लगभग 20 गुना अधिक है। 

Three Gorges Dam बाढ़ या अन्य आपदा को कैसे रोकता है।

इस बांध का एक महत्वपूर्ण कार्य बाढ़ को नियंत्रित करना है, जो यांग्त्ज़ी (Yangtze) की मौसमी नदी के लिए एक बड़ी समस्या है। नदी के निकट स्थित वुहान(Wuhan), नानजिंग(Nanjing) और शंघाई (Shanghai) जैसे कई बड़े और महत्वपूर्ण शहरों के साथ, लाखों लोग बांध के नीचे की ओर रहते हैं। बहुत सारी कृषि भूमि और चीन का सबसे महत्वपूर्ण औद्योगिक क्षेत्र(industrial area) नदी के किनारे बना हुआ है।

जलाशय की बाढ़ भंडारण क्षमता(reservoir’s flood storage) 22 किमी (5.3 घन मील) है।  यह क्षमता हर 10 साल में एक बार बड़ी डाउनस्ट्रीम(downstream) बाढ़ की बहाव को कम करके हर 100 साल में एक बार कर देगी।  इस बांध से सुपर बाढ़ के प्रभाव को भी कम करने की उम्मीद जताई जाती है।

थ्री गोरजेस डैम के सकारात्मक और नकारात्मक प्रभाव क्या हैं?

चीन के इस बांध निर्माण(Dam Construction) ने बाढ़ नियंत्रण (flood control), सिंचाई (irrigation), नेविगेशन (Navigation) और ऊर्जा आपूर्ति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। लेकिन इस डैम के कुछ भारी नकारात्मक प्रभाव जैसे कि भूस्खलन(landslide), पारिस्थितिक समस्याएं(ecological problem), और पानी की गुणवत्ता में गिरावट(water quality decline) आदि है।

Three Gorges Dam क्या क्या नुकसान है?

  • यह स्थानीय लोगों के स्थानांतरण को मजबूर करता है अर्थात जो डैम के पास रहते है उन्हे दूसरी जगह शिफ्ट होने पे मजबूर करता है।
  • यह एक नकारात्मक पर्यावरणीय प्रभाव पैदा करता है। 
  • इससे जल प्रदूषण बढ़ने का खतरा होता रहता है है। 
  • यह ऊर्जा आवंटन में पूर्ण रूप से सक्षम नही है।
  • इसने महत्वपूर्ण पुरातत्व स्थलों को नष्ट कर दिया या तबाह कर दिया।
  • यह भूकंप और भूस्खलन को ट्रिगर कर सकता है।

चीन ने थ्री गोरजेस डैम क्यों बनाया?

चीन का इस बांध बनाने का मुख्य कारण यह है की उन्होंने बड़ी बाढ़ को रोकने के लिए बांध बनाया क्योंकि वे जानते है की यांग्त्ज़ी नदी में हर 10 साल में एक बड़ी बाढ़ आएगी और यह हजारों घरों को मिटा देगी जिससे बहुत से लोगों की प्रॉपर्टी,धन दौलत सब कुछ चला जाएगा इस भयंकर बाढ़ के चपेट में।

चीन के डैम की अंतिम मुख्य जनरेटर, जिसकी संख्या 27 थी तो उसने अपना अंतिम परीक्षण पूरा किया। परीक्षण सफल होने के बाद लगभग नौ साल के निर्माण, स्थापना और बिजली संयंत्र जुलाई 2012 तक पूरी तरह से चालू हो गया था और इस डैम के निर्माण का पूर्ण समापन 23 मई सन् 2012 हो गया था।

निष्कर्ष

हमारे द्वारा दी गई Duniya ka sabse bada bandh के बारे में जानकारी आपको कैसी लगी यह भी अच्छी लगी हो तो कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बताइए यदि आपको लखीमपुर खीरी से संबंधित कोई सवाल करना है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में सवाल कर सकते हैं हम आप के सभी सवाल का उत्तर देने की पूर्ण कोशिश करेंगे इसके साथ ही यदि आप हमें इस आर्टिकल से संबंधित कोई सुझाव देना चाहें तो हम आपके सुझावों का स्वागत करते हैं।