हम भारतीय

सब कुछ हिंदी में

Operating System क्या होता है ?

What is operating system in hindi नमस्कार दोस्तों, मोबाइल और कंप्यूटर में इस्तेमाल होने वाले Operating system के बारे में तो जानते ही हैं. क्या आप जानते हैं की ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता हैं ? 

इस लेख में आपको इसी के बारे में पूरी जानकारी दी जायेगी. अंत आप इस लेख को अंतिम तक पढ़े.

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता हैं ? | What is operating system in hindi

यदि आप ऑपरेटिंग सिस्टम(OS) और सिस्टम सोफ्टवेयर में कन्फ्यूज हो रहे तो आपको यह पता होना चाहिए की दोनो एक ही चीज है बस नाम अलग अलग है। 

एक ऑपरेटिंग सिस्टम किसी भी कंप्यूटर डिवाइस का कोर बनाता है। एक ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना कंप्यूटर सिस्टम का कामकाज और प्रोसेसिंग स्टॉप हो सकता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम है जो स्मार्टफोन, टैबलेट, कंप्यूटर, सुपर कंप्यूटर, वेब सर्वर, कार, नेटवर्क टावर, स्मार्टवॉच इत्यादि जैसे कंप्यूटिंग डिवाइस को मैनेज और ऑपरेट करने के लिए आवश्यक है। 

यह ग्राफिकल यूजर इंटरफेस (GUI) की एक लेयर है। जो यूजर्स और कंप्यूटर हार्डवेयर के बीच एक प्लेटफार्म के रूप में कार्य करता है।

एक ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर हार्डवेयर और एंड-यूज़र के बीच का इंटरफ़ेस है। डेटा की प्रोसेसिंग, एप्लिकेशन चलाना, फ़ाइल मैनेज और मेमोरी को संभालना सभी का मैनेज कंप्यूटर OS द्वारा किया जाता है। Windows,Mac, Android,Linux, Apple iOS आदि ऑपरेटिंग सिस्टम के उदाहरण हैं जो आमतौर पर आजकल उपयोग किए जाते हैं।

लैपटॉप, टैबलेट, मोबाइल फोन आदि सहित सभी आधुनिक कंप्यूटिंग डिवाइसेज में एक ऑपरेटिंग सिस्टम होता है जो डिवाइस के सुचारूरूप से संचालन होने में मदद करता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम का इतिहास

ऑपरेटिंग सिस्टम को डिवेलप करने और उन्हें आज की तरह आधुनिक और success बनाने में वर्षों लग गए। ऑपरेटिंग सिस्टम के विकास और इतिहास के बारे में नीचे दिया गया है।

  • शुरूआत में बनाए गए कंप्यूटरों में एक ऑपरेटिंग सिस्टम नहीं था और प्रत्येक प्रोग्राम को चलाने के लिए एक अलग कोड का उपयोग किया जाता था। इसने डेटा के प्रसंस्करण को और अधिक जटिल और समय लेने वाला बना दिया था।
  • सन 1956 में जनरल मोटर्स द्वारा एक IBM कंप्यूटर चलाने के लिए पहला OS तैयार किया गया था।
  • सन 1960 में IBM ने अपने द्वारा लॉन्च किए गए डिवाइसेज में OS स्थापित करना शुरू कर दिया था।
  • UNIX ऑपरेटिंग सिस्टम का पहला संस्करण 1960 में लॉन्च किया गया था और इसे प्रोग्रामिंग भाषा C में लिखा गया था।
  • आज सभी प्रमुख कंप्यूटर उपकरणों में एक ऑपरेटिंग सिस्टम होता है सबका एक ही कार्य होता है लेकिन थोड़ा अलग अलग विशेषताओं के साथ उपलब्ध है।

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार

कुछ OS brief जानकारी के साथ नीचे दिए गए हैं।

बैच ऑपरेटिंग सिस्टम

यह एक इंटरमीडिएट ऑपरेटर है, जिसे काम को बैचों में वितरित करने और समान नौकरियों को सॉर्ट करने की आवश्यकता होती है एक से अधिक यूजर्स इसका उपयोग कर सकते हैं।

रीयल-टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम

इसमें डेटा प्रोसेसिंग सिस्टम है यूजर्स के आदेश और आउटपुट के बीच प्रसंस्करण समय बहुत छोटा है।

टाइम-शेयरिंग ऑपरेटिंग सिस्टम

अलग अलग टर्मिनलों पर एक से अधिक लोग एक ही समय में एक प्रोग्राम का उपयोग कर सकते हैं। इस सिस्टम का मुख्य उद्देश्य प्रतिक्रिया समय को कम करना है।

वितरित ऑपरेटिंग सिस्टम

जब दो या दो से अधिक सिस्टम एक-दूसरे से जुड़े होते हैं और कोई उन फाइलों को खोल सकता है जो उनके सिस्टम में नहीं बल्कि नेटवर्क से जुड़े अन्य डिवाइसेज में मौजूद हैं। इसका उपयोग आने वाले समय में और बड़ेगा। वे रीयल-टाइम अनुप्रयोगों की सेवा के लिए कई केंद्रीय प्रोसेसर का उपयोग करते हैं

एंबेडेड ऑपरेटिंग सिस्टम

ये खास ऑपरेटिंग सिस्टम(OS) बड़े सिस्टम में formed होते हैं। ये सब साधारण तौर पर एटीएम जैसे एकल विशिष्ट कार्यों तक सीमित होते हैं।

नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम

तमाम तरीके की फाइलों का सारा मैनेज,डेटा की प्रोसेसिंग, फाइलों को साझा करने तक पहुंच आदि इस छोटे से नेटवर्क पर किए जाते हैं यह कई यूजेस के साथ काम करने के लिए एक सुरक्षित ऑपरेटिंग सिस्टम भी है।

मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम

Technology के क्षेत्र में प्रगति के साथ, स्मार्टफोन अब एक ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ जारी किए गए हैं। वे इस तरह से डिज़ाइन किए गए हैं कि वे एक छोटे डिवाइस को कुशलता से काम करने में मदद कर सकें।

ऑपरेटिंग सिस्टम के कार्य

एक ऑपरेटिंग सिस्टम के अलग अलग कार्य नीचे दिए गए हैं।

  • यह मेमोरी मैनेजमेंट में मदद करता है। यह मुख्य मेमोरी और कंप्यूटर डिवाइस की प्राइमरी मेमोरी में सहेजी जा रही फ़ाइलों का ट्रैक रखता है
  • जब भी कोई कंप्यूटर चालू होता है तो ऑपरेटिंग सिस्टम अपने आप काम करना शुरू कर देता है।  इस प्रकार कंप्यूटर डिवाइस की बूटिंग और रीबूटिंग प्रक्रिया भी OS का एक महत्वपूर्ण कार्य है।
  • ऑपरेटिंग सिस्टम के पासवर्ड सुरक्षा विकल्प का उपयोग करके, डिवाइस में डेटा को सुरक्षित रखा जा सकता है।
  • आसान नेविगेशन और फाइलों और कार्यक्रमों का संगठन ओएस के जरिए मैनेज किया जाता है।
  • किसी भी प्रकार का प्रोग्राम जिसे सिस्टम के माध्यम से चलाने की आवश्यकता होती है वो ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा किया जाता है.
  • यदि प्रोग्राम के दौरान किसी प्रकार की त्रुटि या बग पाई जाती है तो ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोग करके पता लगाया जाता है.

जनरल ऑपरेटिंग सिस्टम की लिस्ट

नीचे उनके रिलीज के वर्ष के साथ-साथ आमतौर पर उपयोग किए जाने वाले ऑपरेटिंग सिस्टम की लिस्ट है।

OS Name Releasing Year
Android2008
IOS2007
Windows1985
MAC Os2001
MS – Dos1981
Chrome OS2011
Windows Phone2010
BlackBerry OS1999
FirFox OS2013
Unix1969

यह थी कुछ सामान्य जानकारी What is operating system in hindi के बारे में.