मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा जिला कौनसा है ?

MP ka sabse bada jila ( MP का सबसे बड़ा जिला ) हमारा प्यारा भारत भौगालिक तथा ऐतिहासिक अजूबो से भरा पड़ा है। कहीं कहीं पर साल भर बर्फ के चादर ढके रहते तो कहीं मूसलाधार बारिश, कुछ हिस्सों में ताप्ती हुई रेगिस्तान के रेत ने जिन मुश्किल किया है तोह कहीं ऊँचे ऊँचे पर्बतों ने घिरा रखा है। ऐसे विविध जलवायु तथा भौगालिक स्थिति के साथ हमारा यह प्यारा देश अनन्य बनता है। 

ऐसे में बात करे भारत के दिल कहे जाने वाली राज्य मध्यप्रदेश के बारे में, भौगालिक स्थिति के हिसाब से यह राज्य भारत के बीचों बीच होने से सायद इसका ऐसा नाम हुआ होगा। चलिये आज बात करते है मध्यप्रदेश की सबसे बड़े जिले के बारे में । मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा जिला कौनसा है? क्या है इसकी खासियत और कितने लोग बेस है इस जिले में? इन सब के बारे में जानने के लिए हमारे साथ जुड़े रहिये।

मध्यप्रदेश

1 नवम्बर 1956 को बना यह राज्य आयतन के हिसाब से भारत की दूसरी सबसे बड़ा राज्य है। 308,245 स्क्वायर किलोमीटर विशिष्ट यह राज्य भारत के बीचोबीच बसा हुआ है। 2012 के एक आंकड़ों के मुताबिक 7.33 करोड़ लोग यहाँ बसते है। 52 जिल्लों में बता हुआ यह राज्य के मुख्य आय की स्रोत खेती है।

मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा जिला

छिंदवाडा मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा जिला है. कुल 52 जिल्लों में से छिंदवाड़ा सबसे बड़ा जिला है। छिंदवाड़ा का कुल क्षेत्रफल  11,815 किलोमीटर है। 20,90,922 विविष्ट घनी आवादी वाली यह जिले के मुख्य कार्यालय छिंदवाड़ा शहर है। 

इतने बड़ी आवादी के साथ भी यह जिला बाकियों के मुकावले काफी कम घना है, जहाँ मध्यप्रदेश के बाकी जिले में किलोमीटर प्रति 200 से ज्यादा लोग रहते है वही इसमें सिर्फ 171 लोग ही बसते है। राज्य के कुल 10 क्षेत्रो में से यह जबलपुर क्षेत्र में पड़ता है। यह जिले सबसे बड़े होने के साथ साथ पर्यटन, शिल्प तथा शिक्षा क्षेत्र में भी काफी बहतर है। 

छिंदवाड़ा जिला

मध्यप्रदेश की सबसे बड़े जिले की ख़िताब रखने वाली यह जिले की कुल खेत्रफल 11,815 किलोमीटर है। करीब 21 लाख आवादी वाली यह जिला दक्षिण हिस्से में तथा जबलपुर क्षेत्र में आता है। यह भी बताया जाता है कि जिले के नाम इस प्रान्त में भारी मात्रा में उगने वाली छिन्द नामक पेड़ से लिया गया है।

कृषि प्रधान यह क्षेत्र उद्योग तथा पर्यटन क्षेत्र में भी अव्वल रहा है। 171 घनत्व विविष्ट यह प्रदेश साक्षरता आज भी 71% है। 13 तहसील, 11 उन्नयन क्षेत्र, 1 नगर निगम , 8 नगर पालिका तथा 9 पंचायत से बना यह जिला पुरे क्षेत्र तथा पडोशी राज्यो से सड़क और रेल से जुड़ा हुआ है। जिले के साथ साथ छिंदवाड़ा शहर इस जिले की मुख्य सरकारी कार्यालय भी है।

पर्यटन 

पहाड़ो, जंगल और जल-प्रपात तथा देवालय से पूर्ण यह जिले में कई सारे पर्यटन क्षेत्र महजूद है। देवगढ़ किला, पातालकोट, योगिनी मंदिर, मंदिर-मस्जिद, अनहोनी आदि । पेंच नेशनल पार्क तथा टाइगर रिज़र्व यहाँ के मुख्य आकर्षण है। 

पहाड़ो, जंगल तथा नदी से घिरा यह नेशनल पार्क की विवरणी हमे 17वीं सताब्दी के लिए हुए किताबों में भी मिलते है। भारत प्रसिद्ध पातालेश्वर शिव मंदिर भी इस जिले में महजूद है। करीब 250 साल पहले यह शिव लिंग दर्शन हुए थे, तब से लेकर आज तक श्रद्धालुयों का यहाँ आना लगा रहता है।

आपने क्या सीखा ?

हमे आशा है की आपको MP ka sabse bada jila ( MP का सबसे बड़ा जिला ) विषय के बारे में दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी। अगर आपको इस विषय के बारे में कोई Doubts है तो वो आप हमे नीचे कमेंट कर के बता सकते है। आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा।

यह भी पढ़े

उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जिला कौनसा है ?

Leave a Comment

International Tribal Day : Day of the World’s Indigenous Peoples राजस्थान का कश्मीर कहा जाता है गोरमघाट झरना राजस्थान का मेघालय के नाम से जाना जाता है : भील बेरी झरना