हम भारतीय

सब कुछ हिंदी में

बिहार का सबसे बड़ा जिला

Bihar ka sabse bada jila देश के उत्तर में बड़े बिहार राज्य के बारे में तो आप सब जानते ही हैं. बिहार किसी न किसी वजह से हमेशा सुर्ख़ियों में रहता हैं. क्या आप जानते हैं की बिहार का सबसे बड़ा जिला कौनसा हैं ? 

Bihar ka sabse bada jila

बिहार का सबसे बड़ा जिला पश्चिम चंपारण (West Champaran) भारत में बिहार राज्य का एक प्रशासनिक जिला है, जो बीरगंज से सिर्फ 60 किमी पश्चिम में स्थित है।  यदि क्षेत्रफल के हिसाब से देखा जाए तो चंपारण  बिहार का सबसे बड़ा जिला है। 

यह तिरहुत डिवीजन (Tirhut Division) का एक हिस्सा है। इस जिला का मुख्यालय बेतिया(Bettiah) में स्थित हैं। यह जिला नेपाल के साथ अपनी तरल सीमा(Fluid Border) के लिए जाना जाता है।

पश्चिम चंपारण क्या है खास यहां प्रमुख स्थानों में से एक सेल विशेष प्रसंस्करण (processing) इकाई के लिए कुमार बाग (Kumar Bagh) और भितिहारवा (Bhitiharwa) है जहां महात्मा गांधी ने सत्याग्रह आंदोलन शुरू किया था।

उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जिला

राजस्थान का सबसे बड़ा जिला

चंपारण की भौगोलिक दृष्टि

पश्चिम चंपारण जिला के भौगोलिक दृष्टि पे डाल लेते है। यह जिला 5,228 वर्ग किलोमीटर (2,019 वर्ग मील) के क्षेत्र में फैला हुआ है और तुलनात्मक रूप से कनाडा(Canada) के अमुंड रिंगनेस द्वीप के बराबर है।

दोस्तो अगर हम यहां की फ्लोरा और फौना की बात करे तो वो इस प्रकार है। यहां दो वन्यजीव अभयारण्यों (wildlife sanctuaries) का घर है. वाल्मीकि वन्यजीव अभयारण्य (Valmiki Wildlife Sanctuaries), उदयपुर वन्यजीव अभयारण्य (Udaipur Wildlife Sanctuaries) और बंगाल टाइगर भी शामिल है।

पश्चिम चंपारण जिले में निम्नलिखित उप-मंडल शामिल हैं बेतिया(Bettiah), बगहा(Bagaha) और नरकटियागंज(Narkatiaganj)। यह विशाल जिला सभी प्रमुख शहरों से सड़कों और रेलवे द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

पच्छिमी चंपारण में कौन सी भाषा बोली जाती है?

यदि भारत की 2011 की जनगणना के अनुसार देखा जाए तो जिले की लगभग 91.86% आबादी भोजपुरी(Bhojpuri), 3.32% हिंदी(Hindi) और 2.97% उर्दू(Urdu), बंगाली (Bengali) और अन्य भाषाएं बोली जाती है।

भाषाओं में हिंदी जो देवनागरी लिपि में लिखी गई है और भोजपुरी भाषा देवनागरी और कैथी दोनों लिपियों में लिखी गई है।

वेस्ट चंपारण की संस्कृति और यहां के कुछ उल्लेखनीय लोग जिनका बहुत योगदान रहा है इस जिले को महान बनाने में। यह जिला कवि गोपाल सिंह नेपाली के जन्मस्थान से प्रसिद्ध है। महात्मा गांधी ने यहां से 1917 में राष्ट्रवादियों(Nationalists) राजेंद्र प्रसाद, अनुग्रह नारायण सिन्हा और ब्रजकिशोर प्रसाद के साथ चंपारण सत्याग्रह आंदोलन शुरू किया था।

इस जिले के कुछ महान या उल्लेखनीय लोग जिनके नाम और काम से यह जिला जाना जाता है। जैसे, मनोज बाजपेयी यह एक बहुत ही शानदार फिल्म अभिनेता है,विनय बिहारी जी यह भी मशहूर अभिनेता और गीतकार है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, स्वतंत्रता सेनानी जिन्होंने यहां चंपारण सत्याग्रह आंदोलन शुरू किया था।

संजय जायसवाल एक महान राजनीतिज्ञ है,

प्रकाश झा एक मशहूर फिल्म निर्देशक रह चुके है, मनीष झा जो की फिल्म निर्देशक और थिएटर अभिनेता के रूप में जाने जाते है, बैद्यनाथ प्रसाद महतो के रूप में जाने जाते है, श्री राजनीतिज्ञ जो की संसद सदस्य रह चुके है, कृष्ण कुमार मिश्रा भी बड़े राजनीतिज्ञ में आते है. 

विकास मिश्रा एक अर्थशास्त्री है, गोपाल सिंह नेपाली मशहूर हिंदी कवि, गौरी शंकर पाण्डेय भी राजनीतिज्ञ के तौर पे जाने जाते है, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री केदार पांडेय जी। राघव शरण पांडे एक आईएएस  (सेवानिवृत्त), पूर्व केंद्रीय पेट्रोलियम सचिव, राजनीतिज्ञ रह चुके है।

चंपारण किस लिए प्रसिद्ध है

महात्मा गांधी का पहला सत्याग्रह तत्कालीन चंपारण जिले में मोतिहारी की धरती पर प्रयोग किया गया था और इस प्रकार चंपारण गांधी द्वारा शुरू किए गए भारत के स्वतंत्रता आंदोलन का प्रारंभिक बिंदु रहा है। बौद्ध स्तूप(Boudha Stupa) मोतिहारी(Motihari) के पास केसरिया(Keshariya) में स्थित यह दुनिया का सबसे बड़ा बुद्ध स्तूप माना जाता है।

सरैया मान(saraiya maan) एक शांत झील है जो पश्चिम चंपारण के प्राकृतिक पर्यटन स्थलों में से एक है और यह बेतिया शहर से 6 किमी दूर स्थित है।

चंपारण की राजधानी क्या है?

मोतिहारी भारतीय राज्य बिहार में पूर्वी चंपारण जिले का मुख्यालय है। यह राज्य की राजधानी पटना से 152.2 किलोमीटर (94.6 मील) उत्तर में स्थित है।

चंपारण का नया नाम क्या है?

चंपारण एक ऐसा क्षेत्र है जो अब भारत के बिहार में पूर्वी चंपारण जिले और पश्चिम चंपारण जिले का निर्माण करता है।

चंपारण में पर्यटक स्थल कौन कौन से है?

यदि आपको कभी चंपारण घूमने की प्रबल इच्छा हो तो आप इस जगहों का भ्रमण कर सकते है।

  • गांधी स्मारक चंद्रहिया में है,चंद्रहिया बिहार के पूर्वी चंपारण जिले का एक गाँव है। 
  • सोमेश्वर शिव मंदिर अरेराज में स्थापित है,अरेराज उत्तर बिहार का एक पवित्र शहर है जो की चंपारण से 28 किमी दूर है।
  • अशोकन स्तंभ, लौरिया अरेराज।  
  • गांधी संग्रहालय, मोतिहारी।  
  • केसरिया बौद्ध स्तूप, केसरिया