प्रति व्यक्ति आय क्या है ?

Prati vyakti aay kya hai ( प्रति व्यक्ति आय क्या है ? ) नमस्कार दोस्तों, हम रोजाना अख़बार और डिजिटल मीडिया की मदद सुनते है की हर व्यक्ति की प्रति व्यक्ति आय में बढ़ोतरी हुई है और कभी सुनते है की इसमें कमी आई है। क्या आपको इसके बारे में बता है की यह प्रति व्यक्ति आय क्या होती है ? नही ना! आईये जानते है इसके बारे में विस्तार से – 

प्रति व्यक्ति आय क्या होती है ?

अगर हम इसे परिभाषित करते है तो यह कुछ  इस तरह से हो सकता है। देश की कुल आय में देश की कुल जनसंख्या का भाग दे दिया जाता है तो उसका जो परिणाम होता है तो देश की कुल आय होती है। 

अगर हम इसे एक फोर्मुले के आधार पर समझे तो यह कुछ इस प्रकार से हो सकता है –  

प्रति व्यक्ति आय = कुल राष्ट्रीय आय / देश की कुल जनसँख्या

इस तरह से हम इसकी गणना कर सकते है जो की बेहद ही आसान है। 

देश में हुई कुल कमाई का जनसँख्या के आधार पर क्या औसत आता है वही इसके विदेशों से प्राप्त हुई कमाई भी जोड़ी जाती है। 

मान लीजिये इसे हम एक उदाहरण के साथ समझते है। 

देश की एक वित्तीय वर्ष की देश के अंदर हुई कुल कमाई = 3500 करोड़ है

देश की एक वित्तीय वर्ष की देश के बाहर से प्राप्त हुई कुल कमाई = 4500 करोड़ है। 

तो अब ऐसी स्तिथि में प्रति व्यक्ति आय प्राप्त करने के लिए हम सबसे पहले इन दोनों को जोड़ेंगे और उसके बाद उसमे कुल जनसँख्या का भाग दे देंगे। 

कुल कमाई = 350000000000 + 450000000000 = 800000000000 

जनसँख्या = 13900000000 

प्रति व्यक्ति आय = 800000000000  / 13900000000 = 57।55 ( प्रति व्यक्ति आय होगी ) 

यह हमने केवल एक उदाहरण के हिसाब से समझया है। इसमें देश में वास्तविक प्रति व्यक्ति आय काफी ज्यादा है। 

आपने क्या सीखा ?

हमे आशा है की आपको Prati vyakti aay kya hai ( प्रति व्यक्ति आय क्या है ? ) विषय के बारे में दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी। अगर आपको इस विषय के बारे में कोई Doubts है तो वो आप हमे नीचे कमेंट कर के बता सकते है। आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

International Tribal Day : Day of the World’s Indigenous Peoples राजस्थान का कश्मीर कहा जाता है गोरमघाट झरना राजस्थान का मेघालय के नाम से जाना जाता है : भील बेरी झरना