भारत का राष्ट्रीय ध्वज कौनसा है ?

Bharat ka rashtriya dhwaj ( भारत का राष्ट्रीय ध्वज ) नमस्कार दोस्तों, हमारे देश में साल में दो बार राष्ट्रीय त्यौहार मनाते है। हालांकि हारे देश के 3 राष्ट्रीय त्यौहार है परन्तु हम जिनके बारे में बात कर रहे है वो दो है। एक गणतंत्रता दिवस और दूसरा स्वतंत्रता दिवस। 

आईये जानते है भारत के राष्ट्रीय ध्वज के बारे में और इसके बारे में विस्तार से जानकारी।

भारत का राष्ट्रीय ध्वज 

भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा है। भारत का यह राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा है और इसका इतिहास भी काफी पुराना है। भारतीय संविधान द्वारा इसे 22 जुलाई 1947 को तिरंगे के रूप में अपनाया गया था। 

भारत के राष्ट्रीय ध्वज में तीन कलर की पट्टिया बनी होती है जिसमे सबसे ऊपर केसरिया, बीच में सफ़ेद और सबसे नीचे हरा कलर होता है। इन तीनों कलर की पट्टियों के साथ ही बीच में एक गोल चक्र बना होता है और इसके 24 तीलियाँ यानी लाइन बनी होती है। 

तिरंगे में बने सबसे ऊपर के केसरिया कलर का मतलब त्याग और बलिदान होता है। वही इसमें बीच में सफ़ेद रंग की पट्टी शांति, सत्य और पवित्रता को दर्शाता है। इस तिरंगे के सबसे नीचे की और एक हरे रंग की पट्टी होती है जो हरियाली को दर्शाती है। 

तिरंगे का अनुपात 2:3 है। तिरंगे के बीचे में जो चक्र स्तिथि है उसे सारनाथ के अशोक चक्र से लिया गया है। 

अंतिम शब्द

हमारे इस लेख मे आपको bharat ka rashtriya dhwaj ( भारत का राष्ट्रीय ध्वज ) के बारे मे बताया गया है। उम्मीद है आपको हमारा यह लेख पसंद आय होगा। इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे।

भारत के राष्ट्रीय ध्वज को कब अपनाया गया ?

22 जुलाई 1947 को तिरंगे के रूप में अपनाया गया था

यह भी पढ़े

भारत का राष्ट्रीय पुष्प

Leave a Comment