हम भारतीय

सब कुछ हिंदी में

Engineer कैसे बने ?

Engineer kaise bane आज के दौर में बच्चे पहले की अपेक्षा काफी स्मार्ट होते जा रहे हैं। वह बचपन से ही यह तय कर लेते हैं कि उन्हें किस क्षेत्र में करियर बनाना। वैसे करियर का चुनाव छात्र को अपने अनुसार चलना चाहिए।

तभी जीवन में ज्यादा सफल होते हैं क्योंकि ऐसे में उन्हें अपने प्रोफेशन से प्यार होता है और वह अपने प्रोफेशन से बोरियत महसूस नहीं करते।वही अधिकांश छात्रों की चॉइस इंजीनियरिंग होती है। 

इसके पीछे कहीं वजह हो सकती है। जिनमें छात्र की दिलचस्पी होनी जरूरी होती है तो चलिए जानते हैं की इंजीनियर बनने के लिए आपको क्या करना चाहिए ? Engineer kaise bane

इंजीनियर के फील्ड में जाने वाले छात्र स्कूल में 11वीं में साइंस स्ट्रीम का चयन करते हैं। साइंस में भी उनको गणित रसायन और भौतिक विषयों का लेना आवश्यक होता है,और 12वीं में इन विषयों में अच्छे नंबर लाने भी जरूरी होती है।

MOIC Full form

इंजीनियरिंग क्या है ?

इंजीनियरिंग के क्षेत्र में जाने के लिए सबसे पहले छात्रों का यह जानना जरूरी है कि इंजीनियर और इंजीनियरिंग में क्या अंतर है? इंजिनियरिंग एक कोर्स के अंतर्गत आता है जो कि छात्र 12वीं के बाद इस कोर्स के लिए अप्लाई करते हैं।

12वीं के बाद छात्रों के पास बीटेक में स्नातक की पढ़ाई किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज से करनी चाहिए। इंजीनियर बनने की शुरुआत यहीं से मानी जाती है।इंजीनियर होने के नाते आपके पास कम से कम 3 वर्ष की डिग्री या फिर डिप्लोमा होना जरूरी है ।

3 साल की पढ़ाई करने के बाद छात्र को चाहिए कि उसको जिस विषय में सबसे अधिक दिलचस्पी हो,उसी विषय से पोस्ट ग्रेजुएशन करें। पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद छात्र इंजीनियर के प्रोफेशन में आ जाते हैं।

यदि आपकी दिलचस्पी किसी ऐसे क्षेत्र की खोज यानी कि रिसर्च और डेवलपमेंट करने में होती है, तो उसको अपने ही फील्ड में पी.एच.डी करना फायदेमंद साबित होता है, तो चलिए जानते हैं कि इंजीनियर कितने प्रकार के होते हैं ?

Er full form in hindi 

अगर आप कोई परीक्षा देते हैं तो आपको वहा भी इसके बारे में पूछा जा सकता हैं की ER का पूरा नाम क्या हैं ? तो इस लेख को पढने के बाद आप इस सवाल का जवाब आसानी से लिख सकते हैं। 

हालाँकि इस नाम की कोई आधिकारिक फुल फॉर्म जानी नहीं हुई हैं। जैसे ही जारी होती हैं उसका अपडेट आपको दे दिया जाए। उसके अलावा जैसा हमे लग रहा हैं उसके हिसाब से इसका फुल फॉर्म यह हो सकता हैं।

ER का पूरा नाम होता हैं Engineer जिसे अंग्रेजी में Engineer कहते हैं।

इंजीनियरिंग के प्रकार

जो छात्र इंजीनियरिंग कोर्स के लिए अप्लाई कर रहे हैं। कभी-कभी उनको खुद नहीं पता होता कि इंजीनियरिंग कितने प्रकार की होती है?

यहां तक की उनको इनके प्रकार के नाम तक की जानकारी नहीं होती है अगर है भी तो वो भी अधूरी होती है।ऐसे में सबसे अधिक परेशानी उन्हें उस दौरान आती है।

जब छात्र यह तक नहीं जान पाता की उसे ग्रेजुएशन स्ट्रीम से करें ? तो चलिए आज हम सबसे अधिक पॉपुलर इंजीनियरिंग करने वाले क्षेत्र के बारे में अहम जानकारियां इस ब्लॉग के माध्यम से लेते हैं।

इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग

इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग  कैरियर बनाने  के लिए आपका इलेक्ट्रिक्स में दिलचस्पी लेना जरूरी होता है। इस कोर्स की पॉपुलर में दाखिला लेने के पीछे एक वजह यह भी है, कि इस फील्ड में छात्र के पास सबसे अधिक स्कोप है।

जैसे-जैसे नई टेक्नोलॉजी का विकास होता जाएगा इलेक्ट्रिक इंजीनियर की मांग बढ़ती जाएगी। आज के समय में हर छोटी से बड़ी जगह में इलेक्ट्रिकल इंजीनियर की आवश्यकता पड़ती रहती है। यहां तक की घर से लेकर कोई भी बड़ी कंपनी तक हर जगह इंजीनियर की मांग की जाती है। नासा से लेकर चांद तक हर स्थान पर इलेक्ट्रिकल इंजीनियर कार्य करते हैं। 

मैकेनिकल इंजीनियरिंग

मैकेनिकल इंजीनियर उनके लिए एक बेहतर ऑप्शन है।जिनको मशीनों से बेहद प्यार होता है यह फिर उनके लिए बेहद ही अच्छा माना जाता है इस फील्ड में उनको आए दिन नई चीज सिखाई जाती है, और वह मशीनों के इर्द गिर्द घिरे होते हैं। 

मैकेनिकल इंजीनियर आज के समय में पॉपुलर कोर्स है ,लेकिन इसके लिए आपकी रूचि मशीनों में होने जरूरी मानी जाती है।

सिविल इंजीनियरिंग

सिविल इंजीनियरिंग क्या होती है, यह प्रश्न आमतौर पर लोग अक्सर करते हैं, तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दे कि जो भी शख्स इंजेनरिंग का कोर्स करता है ।

उसके पास पहला विकल्प सिविल इंजीनियर बनने का मौजूद होता है। सिविल इंजीनियर का कार्य सरकार के अंतर्गत काम करने का होता है,जब भी सरकार किसी भी प्रकार का निर्माण करवाती है। 

जैसे कि रोड का निर्माण स्कूल अस्पताल आदि की जिम्मेदारी वह डायरेक्ट तौर पर सिविल इंजीनियर के हाथों पर सौंपती है।सिविल इंजीनियर की जिम्मेदारी कार्य को नीतिगत तरीके से शुरू करके खत्म करने तक का होता है। 

सिविल इंजीनियर बनने के लिए उम्मीदवार की शैक्षिक योग्यता में गणित और फिजिक्स विषयों से 4 वर्ष का कोर्स करना होता है।

कंप्यूटर इंजीनियरिंग

21वीं सदी में कंप्यूटर में सबकी जिंदगी में क्रांतिकारी परिवर्तन लाया है।जैसा कि आपको पता ही होगा की कंप्यूटर हमारे जिंदगी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है।

कंप्यूटर का उपयोग हर कोई किसी न किसी रूप में करता रहता है,फिर चाहे वह स्कूल, कॉलेज ऑफिस, अस्पताल या स्पेस सेंटर हो । लगभग सभी जगह पर इसका इस्तेमाल किया जाता है। जिन लोगों को भी कंप्यूटर से प्यार हो । Engineer kaise bane

वह कंप्यूटर इंजीनियर बनकर अपना करियर सवार सकते हैं। कंप्यूटर इंजीनियर  का आज के जमाने में बहुत अधिक स्कोप है।

पेट्रोलियम इंजीनियरिंग

पैट्रोलियम इंजीनियरिंग जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है कि इस कोर्स में आपको पेट्रोलियम से संबंधित विषयों को पढ़ाया जाएगा । इस कोर्स में दाखिला लेने वाले छात्रों को ड्रिलिंग और भूवैज्ञानिक डेटा विश्लेषण की ट्रेनिंग दी जाती है।

पैट्रोलियम इंजीनियर का सबसे महत्वपूर्ण कार्य जमीन के अंदर से पेट्रोल निकालकर उसको टैंक में सुरक्षित रखने का होता है। इस प्रकार के कार्य करने की उनको ट्रेनिंग दी जाती है।यदि आप कुछ बड़ा करना चाहते हैं। पैट्रोलियम इंजीनियरिंग आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन साबित हो सकता है।

महासागर इंजीनियरिंग (ओशियन इंजीनियरिंग )

ओशिन इंजीनियरिंग का नाम तो आपने सुना ही होगा इसको हम महासागर इंजीनियरिंग के नाम से भी जानते हैं। यह भी एक प्रकार का इंजीनियरिंग कोर्स है। जिसके बारे में बहुत कम ही लोगों को जानकारी होती है। 

यह उनके लिए एक बेहतर इंजीनियरिंग कोर्स है। जिन लोगों को समुद्र से बेहद लगाव होता है,और इंजीनियरिंग के फील्ड में कुछ बेहद हटके करना चाहते हैं। ऐसे छात्रों के लिए एशियन इंजीनियरिंग एक बेस्ट ऑप्शन है। 

वही उन छात्रों के लिए यह काफी सुनहरा मौका हो सकता है। जिनका किसी कारण से नेवी में दाखिला नहीं हो पाया हो।इसके जरिए वह समुद्र से जुड़े रह कर अपने सपने को पूरा कर सकते हैं।

एथिकल हैकिंग

उनके बारे में इनके बारे में आपने लोगों के मुंह से सुना होगा । इसमें हैकिंग करना भी सिखाया जाता है। हैकिंग सुनकर आपको कुछ गलत लग रहा होगा क्योंकि यह क्राइम से जुड़ा टर्म है। आपकी गलतफहमी दूर करने के लिए हम बता दें एथिकल है किंग इंजीनियरिंग के कि कोर्स में रखा गया है।

इस कोर्स में छात्रों को कंप्यूटर को कैसे हैक करते है ,सिखाया जाता है लेकिन यह पूरी तरीके से नैतिक रूप से होता है।जो लोग एथिकल इंजीनियरिंग का कोर्स करते हैं वे अपनी कंपनी का ही डाटा हैक करके उसमें सुधार लाते हैं ,

ताकि इससे उनकी कंपनी का डाटा कोई और ना हैक कर सके, तो जिन लोगों को हैकिंग नैतिक और कानूनी तौर पर करनी है, वह एथिकल हैकिंग कोर्स में दाखिला ले सकते हैं।

खेल टेक्नोलोजी इंजीनियरिंग

खेल में दिलचस्पी तो हर किसी की होती है। मगर हर कोई बड़ा क्रिकेटर या फुटबॉलर बन जाए। ऐसा तो संभव नहीं ,इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है।खेलकूद से बिल्कुल भी ना जुड़े। यदि आप में किसी कारण से या दबाव के चलते इंजीनियरिंग कर ली है।

ऐसे में आपको परेशान होने की बिल्कुल जरूरत नहीं क्योंकि आपके पास खेल टेक्नोलॉजी में भी इंजीनियरिंग करने का विकल्प मौजूद हैं।

इसमें आप लोगों को विभिन्न खेलों में इस्तेमाल होने वाले खेल के उपकरणों का डिजाइन और उसको बनाने का तरीका भी बखूबी सिखाया जाता है।

इसके अलावा भी इंजीनियरिंग के और भी कोर्स आते हैं जिसको आप अपनी अभिरुचि की मुताबिक चुन सकते हो Engineer kaise bane

  • Agricultural Engineering 
  • Sound engineer engineering 
  • energy engineering 
  • photonics engineering 
  • hydraulic Engineering Reproductive Science Engineering Engineering

Top 10 colleges for engineering

इंजीनियरिंग करने के लिए आपको एक अच्छे कॉलेज का चुनाव करना चाहिए उन्हीं में से कुछ बेहद ही पॉपुलर कॉलेज की लिस्ट नीचे दी गई है ।

  • Indian Institute of Technology, Delhi
  • Indian Institute of Technology, Kharagpur
  • Indian Institute of Technology, Bombay
  • Indian Institute of Technology, Kanpur
  • Indian Institute of Technology, Roorkee
  • Indian Institute of Technology, Guwahati
  • Birla Institute of Technology, Pilani
  • Delhi University of Technology, Delhi
  • Indian Institute of Technology, Dhanbad
  • Indian Institute of Technology, Indore

बी.टेक (इंजीनियरिंग) के बाद उम्मीदवार  क्या कर सकता है ?

अक्सर लोगों का प्रश्न रहता है, कि वह बीटेक के बाद आगे की पढ़ाई के लिए कौन से विषय को चुने, और यह सवाल थोड़ा जटिल भी है क्योंकि इस डिसीजन पर छात्र की पूरी जिंदगी जुड़ी होती है। 

वहीं दूसरी ओर आज के समय में बी.टेक तो हर कोई कर रहा है, लेकिन उसे एक अच्छी जॉब मिले, इसकी कोई गारंटी नहीं है। 

ऐसे में बीटेक करने के बाद भी छात्रों के पास कुछ अन्य कैरियर के ऑप्शन मौजूद होते हैं,जो कि आपको हम नीचे के ब्लॉग में बताने जा रहे हैं कि आखिर आप बी.टेक के बाद और कौन से कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं। Engineer kaise bane

एम.टेक की डिग्री होल्ड कर सकते है 

यदि आपने इंजीनियरिंग अपनी रुचि के मुताबिक की है। तो इसके आगे की पढ़ाई के तौर पर आप एम.टेक भी कर सकते हैं। 

एम.टेक आप अपने रुचि के मुताबिक विषय से कर सकते हैं। ऐसा करने से आपको अपने सब्जेक्ट की अच्छी नॉलेज रहेगी और जैसे ही आपको डिग्री प्राप्त हो जाएगी ।

आपको एक अच्छी खासी नौकरी मिलने में देरी नहीं लगेगी।

एमबीए एक बेहतर विकल्प

यदि आपने बी.टेक कर लिया है और आपको ऐसा महसूस हो रहा है कि आपका कैरियर टेक्नोलॉजी के लिए अच्छा नहीं है, तो ऐसे में आप के लिए एमबीए एक बेहतर ऑप्शन साबित हो सकता है। 

कई लोगों की विचारधारा है कि बी.टेक करने के बाद सिर्फ एम.टेक ही करने का विकल्प मौजूद होता है। जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है। 

आप अपने करियर को किसी भी दिशा में ले जा सकते हैं। यह आपकी रुचि के ऊपर निर्भर करता है।

सिविल सर्विसिस की तैयारी कर सकते है ।

कुछ लोगों के मन शुरू से ही सरकारी जॉब पाने की लालसा होती है। इसी कारण से इंजीनियरिंग डिग्री लेने के बाद भी सिविल सर्विस की तैयारी करते रहते हैं। हालाकि इसमें कोई बुराई नहीं है ,बल्कि बी.टेक के बाद सिविल सर्विस की तैयारी करना उम्मीदवार के लिए एक अच्छा ऑप्शन साबित हो सकता है।

आई.ए.एस का पद देश में सबसे बड़ा पद होने के साथ-साथ इनके ऊपर जिम्मेदारियां भी बहुत अधिक होती है। यदि आपने सिविल सर्विसेज में जाने का मन बनाया है, तो आप इसकी तैयारी इंजीनियरिंग के बाद भी कर सकते हैं।

बी.टेक के बाद ने स्टाटप बिजनेस एक बेहतर ऑप्शन है।

इसके अलावा बहुत से लोगों की ख्वाहिश होती है कि वह खुद के मालिक बनना चाहते हैं। इसका कतई मतलब नहीं है, कि वह काम करने के इच्छुक नहीं है ,तो ऐसे लोगों के लिए खुद का स्टार्टअप बिजनेस बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। 

यह उनके लिए एक अच्छा विकल्प है, जिनके अंदर बिजनेस चलाने मैं दिलचस्पी हो। उनके दिमाग में नए-नए आईडिया आते रहते हैं। बीटेक करने के बाद उम्मीदवार के लिए स्टार्टअप एक अच्छी योजना है।

Use of ER in sentence 

ER से जुड़े कुछ वाक्य ।

  • What is ER ? 
  • ER क्या हैं ? 
  • ER is emergency room।
  • ER Emergency room का सक्षिप्त नाम हैं।

निष्कर्ष

इस लेख में आपको Engineer kaise bane के बारे में बताया गया हैं। उम्मीद करते हैं आपको यह लेख पसंद आया होगा।