हरियाणा की राजधानी क्या है ?

Haryana ki rajdhani kya hai ( हरियाणा की राजधानी क्या है? ) उत्तर भारत में स्थित हरियाणा भारत का एक प्रमुख राज्य होने के साथ साथ इसका इतिहास भी काफी पुराना और विस्तृत रहा है। चाहे महाभारत युद्ध हो या इतिहास का पानीपत का युद्ध या फिर 1960 की हरित क्रांति सब में हरियाणा का प्रमुख योगदान रहा है। 

कुरुक्षेत्र में चलने वाली 18 दिन की वो दिल दहला देने वाला घमासान महाभारत युद्ध, 1526, 1556, 1761का पानीपत युद्ध के साक्षी रहा है ये राज्य। भारत के उत्तरी हिस्सो में स्थित यह राज्य अपने उत्तर में पंजाब और हिमाचल प्रदेश, दक्षिण और पश्चिम में राजस्थान से जुड़ा हुआ है। 

चलिये आज के इस लेख में जानते है कि “हरियाणा की राजधानी क्या है?“। इसके साथ साथ हम हरियाणा तथा इसके राजधानी के कुछ विशेषतायों के बारे में भी चर्चा करेंगे।

हरियाणा का जन्म

स्वतंत्र भारत के कुल भूभाग का 1.37% हिस्सा तथा 2% जनसँख्या को लेकर 1 नवम्बर 1966 को हरियाणा प्रदेश की स्थापना की गई। पहले यह राज्य पंजाब का हिस्सा हुआ करता यह क्षेत्र भाषा के चलते हिंदी भाषी लोगो को लेकर पंजाब से अलग हुआ। 

कृषि तथा उद्योग क्षेत्र में यह राज्य आज भारत के बाकी राज्यो से काफी आगे निकल चुका है, देश के सिर्फ 1.37 प्रतिशत भूभाग वाले यह राज्य कृषि में आज सबसे आगे है। इससे आप यहाँ के निवासियों से महनत का अंदाज़ा लगा सकते है।

हरियाणा राज्य 

दुग्ध उत्पादन तथा कृषि संपन्न यह क्षेत्र 1960 के दशकों में हरित क्रांति में भारत का मुख्य अवाहक रहा है। 44,212 वर्ग किलो मीटर इलाके तथा 2,53,51,462 जनसंख्या विशिष्ट यह प्रदेश आज दुग्ध उत्पादन में अग्रणी रहा है। आज 10 करोड़ लीटर से भी ज्यादा दुग्ध उत्पादन करता यह राज्य डेरी प्रोडक्ट मार्किट में भारत में 5वे स्थान पर है।

बात करें यहाँ के लोगों की तो भारत के सबसे अमीर राज्यो में हरियाणा की गिनती होती है। और हरियाणा इस एक राज्य है जिसके करोड़ पति गांव में रहते है, अतः यह सबसे ज्यादा ग्रामीम करोड़ पति वाले इलाका है।

573 प्रति वर्ग किलो मीटर के जनसंख्या घनत्व वाली यह राज्य ऐसे तो भूभाग मामले में 21वि स्थान पर आता, और साक्षरता के मामले में 67.91% से भारत के औसत आंकड़ो से भी ज्यादा है।

हरियाणा की राजधानी 

आपको बता दे के चंडीगढ़ हरियाणा का राजधानी है। चंडीगढ़ हरियाणा की राजधानी होने के साथ एक संघ राज्यक्षेत्र (Union Territory) भी है। शहर का नामकरण हिन्दू देवी काली माँ से सम्बंधित होने का प्रतीत होता है, क्यों की इस क्षेत्र से महज कुछ ही दुरी पर हरियाणा के पंचकुला जिले में काली माँ का एक भव्य मंदिर भी स्थित है।

चंडीगढ़ स्वतंत्र भारत की पहली योजनाबद्ध शहर है, जो आपने वास्तु-स्थापत्य कला के लिए मसहूर है। मुख्य वास्तुकार ली कार्बूजियर के नेतृत्व में पियरे जिएनरेट, माथेव नोविकी और अल्बर्ट मेयर द्वारा डिजाईन किया गया यह शहर में आज भी इसके स्थापत्य कला को देखा जा सकता है।

क्षेत्रफल और जनसँख्या

114 वर्ग किलो मीटर का इस शहर में लगभग 11,26,700 के ऊपर लोग बसते है। 2011 के सेन्सस के अंकोडो की बात करे तो साक्षरता के मामले में यह 86.05% है जिनमे 89.99% पुरुष तथा 81.19% महिला साक्षर है।

चंडीगढ़ अपने वास्तुकला के साथ साथ पर्यटन क्षेत्र में भी विकसित है। यहाँ के रॉक गार्डन, सुखना लेक, चंडीगढ़ रोज गार्डन, महेंद्र चौधरी जूलॉजिकल पार्क, टिम्बर ट्रेल, सेक्टर 17 मार्किट, इस्कॉन मंदिर आदि मसहूर है।

गर्मी के मौसम में काफी गर्मी तथा सर्दी में काफी ठण्ड मश्सुस होती चंडीगढ़ में अगर आप घूमना चाहते तो सितम्बर से लेकर नवम्बर का महीना घूमने के लिए सबसे बहतर है।

आशा है आपको हमारा यह लेख “हरियाणा की राजधानी क्या है” पसंद आया होगा। पोस्ट के बारे में अपने कंमेंट हम जरूर लिखे।

आपने क्या सीखा ?

हमे आशा है की आपको Haryana ki rajdhani kya hai ( हरियाणा की राजधानी क्या है? ) विषय के बारे में दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी। अगर आपको इस विषय के बारे में कोई Doubts है तो वो आप हमे नीचे कमेंट कर के बता सकते है। आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा।

यह भी पढ़े

राजस्थान की राजधानी क्या है

Leave a Comment