हम भारतीय

सब कुछ हिंदी में

कंप्यूटर का अविष्कार किसने किया ?

Computer ka avishkar kisne kiya नमस्कार दोस्तों, आप और हम अक्सर कंप्यूटर पर काम करते है,कंप्यूटर पर गेम खेलते हैं और कंप्यूटर पर कई सारी मूवी देखते हैं। क्या आपको पता हैं की इस कंप्यूटर को पहली बार किसने बनाया था ? कंप्यूटर का अविष्कार किसने किया ? 

आज ऐसे ही सवालों के जवाब के बारे में जानने की कोशिश करेंगे और यह भी देखेंगे की कंप्यूटर को पहली बार किसने बनाया ? चलिए आसान भाषा में समझते हैं की आखिर कंप्यूटर क्या है ? और कंप्यूटर का इस्तेमाल कहा होता हैं ? 

कंप्यूटर क्या हैं ? | Computer kya hai ?

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस हैं। कंप्यूटर की बनाने वाले इंसान ही हैं परन्तु आज यह मनुष्य के दिमाग से भी तेज काम करता हैं। कंप्यूटर को हम कई जगहों और कार्यों में इस्तेमाल कर सकते हैं। कंप्यूटर के बारे में जानकारी लेने से पहले आपको यह बता देते हैं की आज कंप्यूटर हमारे जीवन जीने का एक तरीका बन चूका हैं। 

कंप्यूटर का अविष्कार किसने किया ? | Computer ka avishkar kisne kiya ?

कंप्यूटर का इतिहास तो काफी पुराना हैं। हमारे देश की आजादी से पहले भी कंप्यूटर जैसी एक मशीन बना दी गई थी जिसने लोगों के कामों को आसान बना दिया था। वास्तविक रूप में कंप्यूटर का पहली बार निर्माण चार्ल्स बेबेज ने किया था। चार्ल्स बेबेज को कंप्यूटर का पितामाह कहा जाता हैं। इन्होने कंप्यूटर जैसी एक मशीन का निर्माण 1833 से 1871 के बीच किया था। 

हालांकि कई ऐसे वाक्य भी हैं जिसमे यह बताया जाता हैं की William Oughtred ने 1622 में पहला कंप्यूटर बनाया था और इसका नाम उन्होंने अबेकस रखा था। इसके बाद चार्ल्स बेबेज ने कंप्यूटर के वर्तमान रूप को बनाया और लोगो को कंप्यूटर का आइना दिखाया। आधुनिक कंप्यूटर के पितामाह के रूप में चार्ल्स बेबेज को ही जाना जाता हैं। 

दुनिया का पहला कंप्यूटर | Duniya ka pahla computer

कहा जाता हैं की दुनिया का पहला कंप्यूटर जब भी बना था तो उसका नाम ENIAC था और उसको अमेरिका में विकसित किया गया था। यह कंप्यूटर आकार में काफी बड़ा था और इसको रखने के लिए भी बड़े कमरे की आवश्यकता होती थी। 

आज के वर्तमान में कंप्यूटर को टेबल पर रख पाते हैं परन्तु उस समय के कंप्यूटर को रखने के लिए बड़े – बड़े कमरों की आवश्यकता होती थी। विश्व में बना सबसे पहला कंप्यूटर जो की एक इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर था, वह 70,000 resistors, 10,000 capacitors और 18,000 vacuum tubes के साथ 1801 स्क्वायर फीट में फैला था।

भारत में पहला कंप्यूटर | Bharat me pahla computer

दोस्तों क्या आपको पता हैं की भारत में पहला कंप्यूटर कब और कैसे आया था ? अगर आप नहीं जानते हैं तो आपको इस लेख के माध्यम से बता देते हैं की भारत के कोलकाता शहर में पहला कंप्यूटर लगाया गया था जिसको Dr। Dwijish dutta ने लगवाया था।

इस कंप्यूटर को पहली बार कोलकाता के विज्ञान संस्थान में लगवाया गया था। यह एक ऐनोलोग प्रकार का कंप्यूटर था। उसके बाद भारत में एक और कंप्यूटर बंगलौर के विज्ञान संस्थान में लगवाया गया था। 

परन्तु ऐसा भी कहा जाता हैं की भारत में सबसे पहले आधुनिक कंप्यूटर की शुरुआत 1956 में हुई थी जब कोलकाता के विज्ञान संस्थान में पहली बार डिजिटल कंप्यूटर लगाया गया था। पहली बार इस विज्ञान संस्थान में HEC – 2M लगाया गया था। 

कंप्यूटर किस तरह काम करता है ? | Computer kis tarah kaam karta hai ?

कंप्यूटर कैसे और किस तरह से काम करता हैं इस बारे में जानने से पहले कंप्यूटर के कुछ ऐसे तरीकों और टर्म्स के के बारे में जानते हैं जो कंप्यूटर के प्रोसेस में आम हैं और कंप्यूटर सिस्टम के मुख्य हिस्सों में शामिल हैं। यह एक प्रोसेस हैं और इस प्रोसेस में input, process & output हैं। कंप्यूटर में किसी भी प्रोसेस को फॉलो करने के लिए इन सामान्यत इन तीनो चरणों से गुजरना होता हैं। 

हमारे आसान भाषा में इस्तेमाल आने वाले कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को किसी भी program को execute करने के लिए इन तीनों प्रोसेस से गुजरना होता हैं। चलिए समझते हैं एक उदाहरण के साथ की यह तीनो steps कैसे काम करते हैं। इसको समझना हमारे लिए इसलिए जरुरी हैं क्योंकि कंप्यूटर के basic knowledge के लिए जरुरी हैं। कंप्यूटर के लिए इन तीनों चरणों को फॉलो करना जरुरी हैं जो इस प्रकार हैं – 

Input – कंप्यूटर में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण भाग हैं input, यह तब इस्तेमाल किया जाता हैं जब कंप्यूटर में किसी डाटा को enter किया जाता हैं। कंप्यूटर में किसी भी डाटा को enter करने के लिए इनपुट डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता हैं जैसे Keyboard, mouse, inkjet इतियादी। कीबोर्ड का इस्तेमाल कंप्यूटर में किसी भी कुंजी की enter करने के लिए किया जाता हैं वही माउस का इस्तेमाल का इस्तेमाल किसी भी प्रोग्राम को ओपन, ऑपरेट और बंद करने के लिए इस्तेमाल किया जाता हैं। 

Process – कंप्यूटर में किसी भी डाटा को enter करने के बाद कंप्यूटर के प्रोग्राम उसे प्रोसेस करते हैं। कंप्यूटर डाटा को प्रोसेस करने के लिए कंप्यूटर में कई तरह से प्रोसेस लगे होते हैं जैसे प्रोसेसर और कंप्यूटर की मेमोरी इतियादी। यह कंप्यूटर में enter किये डाटा को प्रोसेस करने के बाद उसे आउटपुट के लिए तैयार करता हैं। 

Output – कंप्यूटर में इनपुट किये गये डाटा को प्रोसेस करने के बाद उन डाटा को आउटपुट के लिए तैयार किया जाता हैं। कोपुटर में enter किये गये डाटा को आउटपुट पर दिखाने के लिए आउटपुट डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता हैं जैसे मोनिटर। इसके अलावा कंप्यूटर में से किसी भी डाटा का प्रिंट लेने के लिए 

कंप्यूटर के बेसिक ज्ञान को समझने से पहले इन सभी प्रोसेस को समझना भी जरुरी हैं। चलिए अब यह समझते हैं कंप्यूटर के वे कौनसे बेसिक सॉफ्टवेर हैं जिनको आपको सीखना जरुरी हैं अगर आप कंप्यूटर की बेसिक जानकारी सिख रहे हैं तो।

कंप्यूटर की पीढ़ी | Generation of computer 

कंप्यूटर की पीढ़ी के बारे में बात करे तो वर्तमान तक कंप्यूटर की कुल पांच पीढ़िया आई हैं। इन पाँचों पीढ़ियों में कंप्यूटर का किस प्रकार से विकास हुआ इसके बारे में भी हमे समझना चाहिए। यह पांचो पीढ़िया अपने आप में सबसे अलग और सबसे अच्छी – अच्छी किस्म की साबित होती जा रही हैं। चलिए समझते हैं इन पीढ़ियों के बारे में। 

कंप्यूटर की प्रथम पीढ़ी 

कंप्यूटर की पहली पीढ़ी का समय साल 1946 से 1956 तक का माना जाता हैं। कंप्यूटर का पहली बार विकास इसी समय अवधि के के अंदर हुआ था। कंप्यूटर की इस पीढ़ी में कंप्यूटर में डायोड वाल्व वैक्यूम ट्यूब का प्रयोग किया गया था। कहते हैं की इस डायोड वाल्व नामक वैक्यूम ट्यूब का आविष्कार सर एम्ब्रोज फ्लेमिंग ने सन् 1904 में किया था।

कंप्यूटर की दूसरी पीढ़ी

कंप्यूटर की दूसरी पीढ़ी का समय 1956 से 1964 के मध्य माना जाता हैं। कहते हैं की कंप्यूटर की इस दूसरी पीढ़ी में वक्युम ट्यूब के स्थान पर ट्रांजिस्टर का इस्तेमाल किया गया था। इसके बाद इस पीढ़ी के कंप्यूटर में इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का इस्तेमाल किया जाने लगा। 

कंप्यूटर की तीसरी पीढ़ी 

कंप्यूटर की इस तीसरी पीढ़ी का समय 1964 से 1970 के मध्य माना जाता हैं। इस पीढ़ी के कंप्यूटर में ट्रांजिस्टर के स्थान पर IC का यानी Integrated Circuits का इस्तेमाल किया जाने लगा। इस कंप्यूटर में इस्तेमाल होने वाली IC में ट्रांजिस्टर, रेजिस्टर और कैपेसिटर इन तीनों को एक साथ सम्मिलित किया गया था।

कंप्यूटर की चतुर्थ पीढ़ी

कंप्यूटर किस इस चौथी पीढ़ी की समय अवधि 1970 से अब तक का माना जाता हैं। इस पीढ़ी में इस्तेमाल होने वाले कंप्यूटर में CPU और centrol processing chip का इस्तेमाल किया जाने लगा। वर्तमान में हम जो भी कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं वो सामान्यत इसी पीढ़ी के कंप्यूटर हैं। इस पीढ़ी के कंप्यूटर में माइक्रोप्रोसेसर का इस्तेमाल भी किया जाता था। इन्टेल-8080 पर आधारित पहला माइक्रोकम्प्यूटर ‘आल्टेयर’ बनाया गया जिसकी मेमोरी (memory) एक किलोवाट थी।

कंप्यूटर की पांचवी पीढ़ी

कंप्यूटर की इस पीढ़ी पर वैज्ञानिक काम कर रहे हैं। ऐसे प्रयास किया जा रहा हैं की इस कंप्यूटर में उन सभी प्रोसेस और गुणों को सम्माहित किया जाएगा जो एक कंप्यूटर को वर्तमान कंप्यूटर से बेहतर और अच्छा बना सकते हैं। 

कंप्यूटर की पीढियो की गणना कंप्यूटर की गति के आधार पर उनकी दक्षता के आधार पर की जाती हैं।

निष्कर्ष 

हमारे सरल भाषा में लिखे इस लेख के माध्यम से आपको Computer ka avishkar kisne kiya के बारे में बताया गया हैं. उम्मीद करते हैं आपको  यह लेख पसंद आया होगा.