भूकंप किसे कहते है ? भूकंप आने के कारण और बचने के उपाय

Bhukamp kise kahate hain

Bhukamp kise kahate hain ( भूकंप किसे कहते है ) भूकंप एक ऐसी तबाही है जो अगर आ जाए तो आसपास के इलाके को तबाह कर देती है। पलक झपकते ही कई ईमारते धराशाही हो जाती है। बड़ी – बड़ी ईमारते धुल में तब्दील हो जाती है। 

भूकंप आने के कई कारण है, वही कुछ वैज्ञानिक इस भूकंप को वैज्ञानिक कारण भी बताते है जिसमे वो भूकंप आने के कारण में धरती के नीच होने वाली कई अलग – अलग गतिविधियों को मानते है। 

हमारे इस लेख में आपको भूकंप के बारे में बताने जा रहे है साथ ही भूकंप कैसे आता है और भूकंप के क्या कारण है ? भूकंप के दुष्परिणाम क्या है ? इस पुरे विषय के बारे में बताने जा रहे है। इस पुरे विषय के बारे में जानने के लिए इस लेख को अंत तक जरुर पढ़े। 

भूकंप क्या होता है ?

भूकंप एक प्राकृतिक आपदा है। अगर इसे एक अन्य परिभाषा में समझे तो इसे कुछ यूँ कह सकते है की “धरती के सौरमंडल पर उर्जा के मुक्त होने में आने वाली कम्पन को भूकंप कहते है ” यह इसकी एक और परिभाषा है। 

इन तरंगों के कंपन के परिणाम धरती में हलचल होती है और धरती अपनी सतह से हलकी सी हिलने लगती है। इस वजह से धरती के ऊपर की सभी चीज़ हिलने लगती है। स्थलमंडल में जितनी तेजी से हलचल होती है उतना ही तेजी से भूकंप आता है और भूकंप की गति तीव्र होती है। 

भूकंप कैसे आता है ?

भूकंप कैसे आता है इसके बारे में तो हम पढ़ चुके है। अब सवाल यह आता है की भूकंप आखिर कैसे आता है। इसके सवाल के जवाब में आप इस लेख में पढ़ सकते है। आपने भी कई बार भूकंप के जटके महसूस तो किये होंगे। 

पर क्या आपने सोच है की यह कैसे आता है। क्या आपको यकीन होगा अगर मी कहू की पुरे विश्व में दिन में 10000 बार भूकंप आते है। मगर यह इसने ज्यादा तीव्र नही होते है। परन्तु कई बार ऐसे विनाशकारी भूकंप आते है जिसमे काफी भारी नुकसान होता है।

भूकंप के कारण

भूकंप कैसे आता है इसके बारे में तो आप जान चुके है। अब यह जानना जरुरी है की भूकंप आने के कारण क्या होते है। भूकंप के कारण क्या है यह सभी निम्न है – 

  • टेक्टोनिक का टकराना – भूकंप का एक कारण यह है की धरती के नीचे टेक्टोनिक प्लेट के टकराने से धरती में कम्पन होता है, इस वजह से भी भूकम्प आता है। 
  • इसके अलावा किसी मिसाइल या न्यूक्लियर के परिक्षण से भी भूकंप आता है। 
  • धरती पर माइनिंग करने से भी धरती में कम्पन होता है और यह भी एक कारण है की इससे भूकंप आता है।
  • इसके अलावा धरती में अपार खुदाई करने से भी धरती में भूकंप उत्पन्न होता है। 

भूकंप को कैसे मापते है ?

भूकंप आने पर कैसे मापा जाता है इसके लिए एक यंत्र का इस्तेमाल किया जाता है। भूकंप को मापने के लिए गणितीय पैमाना का इस्तेमाल किया जाता है। भूकंप को रिक्टर पैमाना पद्धति से माना जाता है। यह एक स्केल आधारित पैमाना है और इसकी खोज 1935 में चार्ल्स रिक्टर ने की थी। 

भूकंप को मापने के लिए एक विशेष प्रकार के यंत्र का इस्तेमाल किया जाता है। इस यंत्र का नाम सिस्मोग्राफ है। इस यंत्र में 0 से 10 तक लिखा जाता है। भूकंप को जो भी तीव्रता होती है उसको अंकों के आधार पर मापा जाता है। इन सभी अंकों के के बीच में कुछ अंतर या गेप होता है जिस वजह से भूकंप का वास्तविक कम्पन मापा जाता है जैसे 5।7 रिएक्टर इत्यादि। 

भूकंप के प्रभाव

Bhukamp kise kahte hai इसके बारे में तो हम जान ही चुके है। अब यह जानना जरुरी है की इस भूकंप के प्रभाव क्या होते है। इन प्रभावों में से कुछ दुष्प्रभाव भी होते है। यह सभी प्रभाव आगे कुछ इस तरह से बताये गये है – 

  • भूकंप आने से कई तरह की माल की हानि होती है तो कई बार अगर भूकंप तेज होता है तो इससे जान का भी खतरा हो सकता है। भूकंप से बड़ी – बड़ी ईमारते तक गिर जाती है और गई गगन चुम्बी ईमारते धराशाही हो सकती है।
  • भूकंप आने से कई बार तो ऐसा भी होता है की इससे धरती तक फट जाती है। 
  • भूकंप से कृषि में भी कई नुकसान होते है जैसे उपजाऊ धरती और मिट्टी भी बर्बाद तक हो जाती है। 

भूकंप से कैसे बचा जाए ?

वैसे तो यह एक प्राकृतिक आपदा है। भूकंप से बचने के लिए कई उपाए भी है जिससे भूकंप से बचा जा सकता है। परन्तु अगर भूकंप अचानक आ जाए तो आप ऐसी जगह पर हो जहा आपके आसपास कोई नही हो तो आप किस तरह से खुद को बचा सकते है। यह है कुछ जरुरी बिंदु – 

  • जब भी आपको भूकंप के झटके महसूस हो तो उस समय आप सीधे ही खुले मैदान में चले जाए और बिजली के खम्भों के पास और पेड़ के नीचे जाने से बचे। 
  • वही अगर आप किसी घर में हो तो भूकंप के झटके आने पर घर में किसी ठोस जगह के नीचे चुप जाए और घर और ऑफिस के सभी खिड़की और दरवाजे खोल दे।

आपने क्या सीखा ?

हमे आशा है की आपको Bhukamp kise kahate hain ( भूकंप किसे कहते है ) विषय के बारे में दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी। अगर आपको इस विषय के बारे में कोई Doubts है तो वो आप हमे नीचे कमेंट कर के बता सकते है। आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा।

यह भी पढ़े

सिन्धु सभ्यता का विनाश कैसे हुआ ?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

International Tribal Day : Day of the World’s Indigenous Peoples राजस्थान का कश्मीर कहा जाता है गोरमघाट झरना राजस्थान का मेघालय के नाम से जाना जाता है : भील बेरी झरना